मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर बीजेपी पर जमकर बरसी मायावती

नई दिल्ली – उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री तथा बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने मंगलवार को मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर बरसी तो साथ ही साथ कांग्रेस को भी लोकसभा चुनाव 2019 के चुनाव को लेकर कांग्रेस को भी चेतावनी देते हुए कहा की अगर सम्मानजनक सीटें मिली तो ही कांग्रेस के साथ गठबंधन होगा।

बता दें की प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए मायावती ने जहां मॉब लिंचिंग को लेकर बीजेपी को दोषी ठहराया तो वहीं मायावती ने आम चुनाव 2019 का भी ज़िक्र करते हुए विपक्षी गठबंधन के बारे कहा कि उनकी पार्टी उसी सूरत में गठबंधन सरकार में शामिल होगी, जब उन्हें लोकसभा सीटों की सम्मानजनक संख्या दी जाएगी। उन्होंने चेतावनी दी कि जो कांग्रेस नेता राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बसपा से गठबंधन को लेकर प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं, उन्हें याद रखना चाहिए कि उन पर भी वही शर्तें लागू होती हैं।

दिल्ली में मौजूद मायावती ने कहा, “मॉब लिंचिंग संकुचित मानसिकता वाले बीजेपी  सदस्यों तथा समर्थकों का काम है, लेकिन वे इसे देशभक्ति समझते हैं, मैं अलवर में हुई लिंचिंग की वारदात की निंदा करती हूं, लेकिन मेरा मानना है कि बीजेपी इस मामले में उचित कार्रवाई नहीं कर पाएगी, इसलिए मैं कोर्ट से आग्रह करती हूं कि वह हस्तक्षेप कर”। मायावती ने साफ-साफ कहा कि मॉब लिंचिंग की वारदात पर केंद्र सरकार कुछ भी नहीं करेगी, और गोहत्या के नाम पर इसी तरह हत्याएं होती रहेंगी।

मायावती ने ये भी आरोप लगाया कि बीजेपी देश का माहौल बिगाड़ रही है और कोर्ट को ऐसे मामलों में खुद संज्ञान लेना चाहिए, इन वारदात को लेकर मायावती ने कहा कि बीजेपी  की चाल, चरित्र और चेहरा सामने आ गया है। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, “बीजेपी सरकार को अपरिपक्व फैसले लेने के लिए याद किया जाएगा, जिनकी वजह से मासूम लोगों की मॉब लिंचिंग की वारदात बढ़ी हैं, खून करने की आज़ादी मिल गई है, देश में लोकतंत्र को नुकसान पहुंचाया जा रहा है, और जनता की जान खतरे में डाली जा रही है।