उन्नाव विधायक रेप मामले में CBI ने दर्ज किया पत्रकार वीरेन्द्र का बयान, विधायक के गुर्गों ने ख़बर चलाने पर दी थी जान से मारने की धमकी

लखनऊ – उन्नाव विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का नाबालिग से बलात्कार मामले में सीबीआई ने उन्नाव के पत्रकार वीरेन्द्र यादव का भी गुरूवार को बयान दर्ज किया। मामले में पत्रकार वीरेन्द्र ने इस ख़बर को उन्होंने सबसे पहले चलाया था जिसके चलते विधायक और विधायक के भाई ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी। जिसके बाद पत्रकार ने केन्द्र औऱ राज्य दोनों सरकार से मामले की शिकायत करते हुए सरकार से खुद की सुरक्षा की मांग की थी लेकिन सत्ता पक्ष के विधायक होने के चलते सरकार ने भी पत्रकार की सुरक्षा के लिए कोई भी जायज़ कदम नहीं उठाए।

इसी मामले में सीबीआई ने पत्रकार को लखनऊ सीबीआई मुख्यालय बुलाकर मामले में पत्रकार के बयान दर्ज किया। पत्रकार ने मामले में बताया कि उन्होंने पूरे मामले की जानकारी सीबीआई को दी, साथ ही पत्रकार ने एक सीडी भी CBI को सौंपी जिसमें उन्होंने रेप पीड़िता के पिता की मौत के ठीक पहले उसका बयान अपने कैमरे में रिकॉर्ड किया था उसकी भी एक कॉपी बनाकर पत्रकार ने सीडी CBI को सौंपी। पीड़िता के पिता के मौत के मामले में CBI को इस सीडी से कुछ अहम जानकारियां भी मिली।

पत्रकार वीरेन्द्र के मुताबिक इस ख़बर को कवर करने और चलाने के कारण पत्रकार वीरेंद्र यादव जिस चैनल में काम कर रहे थे उस चैनल ने भी पत्रकार को इस घटना के कवर करने और उसे प्रमुखता से दिखाने के कारण सरकार के दबाव में आकर चैनल के मालिकों ने पत्रकार के काम करने पर रोक लगा दिया था। पत्रकार ने ये बयान भी CBI को प्रमुखता से दर्ज कराया। सीबीआई ने इस मामले में चैनल के मालिकों का नाम और नंबर भी दर्ज कर लिया, मामले में चैनल के मालिकों को सीबीआई तलब कर सकती है।