सपा के गढ़ में सेंध लगाने की तैयारी में योगी, जनता से सीधेे किया संवाद

मैनपुरी – उत्तर-प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मैनपुरी के लालपुरा गाँव में ग्राम स्वराज अभियान के अंतर्गत चौपाल लगाई, इस दौरान मुख्यमंत्री योगी ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए सरकार की तमाम योजनाओं के बारे में जानकारी दी। अपने संबोधन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने कहा की मई 2018 तक आपके जनपद में 9 हजार से ज्यादा शौचालय बनाए गए हैं,  जिन लोगों को आवास अभी तक नहीं मिला है उन्हें जल्द ही आवास भी उपलब्ध कराए जाएंगे। स्वच्छ भारत अभियान में एक वर्ष पहले तक मात्र 10 हजार 199 शौचालय बने थें और पिछले एक वर्ष के दौरान मैनपुरी जनपद में 86 हजार 91 शौचालयों का निर्माण कराया गया, साथ ही मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पिछली सरकार के दौरान लोगों को एक भी आवास नहीं मिला था लेकिन पिछले 1 साल में यहां लगातार आवास बन रहे हैं, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी क्षेत्र में 2017 में एक भी आवास नहीं बना था, पिछले एक वर्ष में 577 आवास गरीबों को उपलब्ध करवाए गए।

मुख्यमंत्री ने अखिलेश सरकार से अपनी सरकार की तुलना की

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि 577 आवास मैनपुरी को अब तक हमने दिए, समाजवादी पार्ट ने तो मात्र 500 आवास दिए थे, पिछली सरकार के पूरे कार्यकाल में 525 गांवों में बिजली कनेक्शन दिए गए लेकिन हमारी सरकार ने एक साल के दौरान ही 1 हजार 51 गांव मजरों तक बिजली पहुंचाई है। सामूहिक विवाह योजना के तहत पिछली सरकार के दौरान मात्र 1627 गरीब परिवारों को लाभ मिला, लेकिन पिछले एक साल में ही हम लोगों ने 2320 परिवारों को इस योजना का लाभ पहुंचाया, गरीब परिवारों को उज्‍ज्‍वला योजना के तहत नि:शुल्क गैस कनेक्‍शन मिल रहा है,  43 हजार से अधिक परिवारों को नि:शुल्क गैस कनेक्शन मिला है, स्वच्छ भारत अभियान शहरी में नगरीय क्षेत्रों में 2 अक्टूबर, 2014 से मार्च 2017 तक मात्र 3,632 शौचालय बने हैं और मार्च 2017 से अब तक मैनपुरी जनपद मे 9,885 शौचालयों का निर्माण कराया जा चुका है।

मुख्यमंत्री ने जनता से हाथ उठाकर ग्रामीणों से पूछे उनके सवाल

सीएम योगी ने उपस्थित ग्रामीणों से पूछा कि हाथ उठा कर बताओं किस-किस ने बैंक खाते खुलवा लिए हैं साथ ही उन्होंने पूछा प्रधानमन्त्री उज्ज्वला योजना के तहत किसको रसोई गैस का कनेक्शन मिला है, जिस पर लोगों ने हाथ उठाया तो उनसे सवाल पूछे, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसी तरह लोगों के नाम पूछ-पूछ कर जनता से सीधे संवाद किया।