एमरजेंसी में डॉक्टर न मिलने से बच्ची की मौत, मौत के बाद घंटो कंधे पर बच्ची का शव रखकर घूमता रहा पिता

कानपुर – यूपी के कानपुर शहर के हैलट अस्‍पताल में डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही का एक मामला सामने आया है। जहां एक बच्चे का इलाज समय पर न होने से उसकी मौत हो गई। गुस्‍साए परिजन और अन्‍य लोगों ने अस्‍पताल में जमकर हंगामा किया। वहीं अन्‍य मरीजों और उनके तीमरदारों ने आरोप लगाया कि अस्‍पताल में अक्‍सर इस तरह के मामले सामने आते हैं, फिर भी प्रशासन कोई सख्‍त कदम नहीं उठाता है।

मामला उन्‍नाव से आई आठ साल की मासूम बच्‍ची का है, बताया जा रहा है कि वह बच्‍ची छत से गिरकर घायल हो गई थी, परिजन उसे लेकर इलाज के लिए हैलट पहुंचे थे, लेकिन वहां किसी भी डॉक्टर ने उस बच्ची को देखा तक नहीं। यहां तक एमरजेंसी वार्ड में भी घंटो तक कोई डॉक्‍टर नहीं मिला। डॉक्टरों और स्टॉफ की लापरवाही के चलते बच्ची की मौत हो गई।

उससे से भी ज्यादा संवदेनहीनता तब नजर आई जब बच्ची के परिजन को अस्पताल प्रशासन ने कोई साधन नहीं मुहैय्या कराया, मासूम के शव को लेकर उसका पिता घंटों अपने कंधों पर लेकर घूमता रहे लेकिन कोई एम्‍बुलेंस तक नहीं मिली। इस घटना के बाद से परिजनों के साथ परिसर में मौजूद अन्‍य लोगों ने भी हैलट प्रशासन की लापरवाही पर सवाल उठाया और जमकर विरोध किया लेकिन इस मामले में अस्पताल प्रशासन के कानों में जूं तक नहीं रेंगी।