2019 का सपना पूरा करने के लिए ममता ने दिल्ली में डाला डेरा

तीन दिवसीय दौरे पर दिल्ली आईं तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के इस दौरान राष्ट्रीय विपक्षी दलों को एकजुट करने के लिए इन दलों के शीर्ष नेताओं से मिलने की संभावना है। वह उन्हें आगामी 19 जनवरी की रैली के लिए आमंत्रित भी करेंगी। तृणमूल के सूत्रों के अनुसार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के मंगलवार या बुधवार को संसद के सेंट्रल हॉल जाने का कार्यक्रम है और वह विपक्षी दलों के नेताओं में शामिल संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की अध्यक्ष सोनिया गांधी से व्यक्तिगत रूप से मिलकर आगामी 19 जनवरी को कोलकाता में ‘संघीय एवं भाजपा विरोधी ताकतों’ की रैली के लिए आमंत्रित कर सकती हैं।

बनर्जी ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात का समय मांगा है और उनसे असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर(एनआरसी) के मुद्दे पर चर्चा करने करने की संभावना है। वह कैथोलिक बिशप कांफ्रेंस द्वारा मंगलवार को आयोजित सम्मेलन में व्याख्यान भी देंगी। पार्टी सूत्रों के अनुसार बनर्जी का वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी, पूर्व भाजपा नेता यशवंत सिन्हा और वर्तमान भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा से भी मिलने का कार्यक्रम है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के भी उनसे मिलने की उम्मीद है। लोकसभा चुनाव 2019 के लिए ममता विपक्षी ताकतों को एकजुट करने में जुटी हुई हैं। हाल ही में कांग्रेस ने संकेत भी दिए थे कि अगर सभी विपक्षी दल एकजुट होते हैं तो आगामी प्रधानमंत्री कांग्रेस के बाहर से भी हो सकता है, ऐसे में सबसे प्रबल दावेदार ममता बनर्जी मानी जा रही हैं।