लाहौर एयरपोर्ट पर पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज और मरियम शरीफ गिरफ्तार, दोनों के पासपोर्ट हुए जब्त

पाकिस्तान – भ्रष्टाचार के मामले में दोषी करार दिए गए पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम को लाहौर पहुंचते ही शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया। उनका पासपोर्ट भी जब्त कर लिया गया है। पिता-पुत्री दोनों को अदियाला जेल ले जाया गया।

यहां आने से पहले शरीफ और उनकी बेटी लंदन से संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी अबू धाबी पहुंचे थे, शरीफ की पत्नी कुलसुम लंदन के अस्पताल में जिदंगी मौत की जंग लड़ रही हैं, पाकिस्तान के भ्रष्टाचार निरोधक निकाय के अधिकारी, शरीफ और उनकी बेटी को हिरासत में लेने के लिए हवाई अड्डे पर मौजूद थे। दोनों को छह जुलाई को लंदन में चार आलीशान फ्लैटों की मिल्कियत से जुड़े एवेनफील्ड संपत्ति मामले में दोषी ठहराया गया था।

बता दें कि शरीफ को 10 और उनकी बेटी मरियम सात की साल की सजा सुनाई गई है। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) और कार्यवाहक सरकार ने घोषणा की थी कि हवाई अड्डे पर पहुंचने पर उन्हें हिरासत में ले लिया जाएगा, दोनों को इस्लामाबाद ले जाने के लिए हवाई अड्डे पर एक हेलीकॉप्टर मौजूद रखा गया था। उन्हें जवाबदेही अदालत में पेश करने के बाद इस्लामाबाद से रावलपिंडी की अदियाला जेल ले जाया गया।

शरीफ परिवार ने लंदन में खरीदे थे 4 फ्लैट

कोर्ट ने हाल ही में नवाज को 10 साल की सजा सुनाई है, साथ ही उन पर करीब 72 करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगाया, मरियम को 7 साल जेल में गुजारने होंगे और 18 करोड़ रुपए का जुर्माना देना होगा, उनके पति सफदर (54) को 1 साल की सजा सुनाई गई है। पूरा मामला लंदन के अवेनफील्ड स्थित 4 फ्लैट से जुड़ा है, नवाज ने ये फ्लैट 1993 में खरीदे थे। वहीं, गुरुवार रात नवाज के दो पोते जुनैद सफदर और जकारिया हुसैन को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया। उन पर एक प्रदर्शनकारी से मारपीट का आरोप है। जुनैद नवाज की बेटी मरियम और जकारिया नवाज के बेटे हुसैन का बेटा है।

छावनी में तब्दील हुआ लहौर

सरकार ने सुरक्षा और कानून व्यवस्था के मद्देनजर पूरे लाहौर को छावनी में तब्दील कर दिया था। कई सड़कों को कंटेनरों की मदद से सील कर दिया गया था। पाक रेंजर्स सहित 10 हजार जवानों को खासतौर पर शरीफ की गिरफ्तारी के बाद पैदा होने हालात के लिए तैनात किया गया था। करीब दो हजार पाक रेंजर्स की तैनाती लाहौर हवाई अड्डे पर की गई थी।

नवाज शरीफ के पहुंचने से पहले ही हिंसक हुए कार्यकर्ता

प्रशासन ने नवाज के पहुंचने से पहले ही उनकी पार्टी पीएमएल-एन के कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़पों की घटनाएं सामने आने लगी। पार्टी के कार्यकर्ताओं ने लाहौर के नुवाकोट पुलिस थाने में पुलिस के वाहन में तोड़फोड़ की। लाहौर के ही चुंग इलाके में 500 कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर पत्थरबाजी की, जिसमें कई पुलिसवाले घायल हो गए। रावी पुल के पास भी झड़प हुई, जिसमें चार पुलिस कर्मी घायल हो गए। एयरपोर्ट पर उग्र भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े। वहीं तमाम बैरियर को तोड़ते हुए शाहबाज शरीफ मॉल रोड तक अपने समर्थकों के साथ पहुंचे। उन्होंने समर्थकों को संबोधित करते हुए कार्यवाहक मुख्यमंत्री पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए इस्तीफे की मांग की।