प्रधानमंत्री मोक्ष नगरी के बजाए नरक द्वार से फूंकेंगे चुनावी बिगुल

दिल्ली – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब पूर्वी उत्तर प्रदेश के कस्बे मगहर से बीजेपी का चुनावी बिगुल फूंकने जा रहे हैं. इस कस्बे को ‘नरक का द्वार’ भी कहा जाता है, उधर उत्तर-प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने राम मंदिर के निर्माण की बात फिर से उठानी शुरू कर दी है। ऐसे में लगता है कि पीएम मोदी ‘सबके विकास’ पर फोकस रखेंगे। कबीर की निर्वाण स्थली “मगहर” की वजह से मायावती ने इस जिले का नाम ही संतकबीरनगर तो रख दिया था। पूर्वांचल के संतकबीरनगर से एक नई सियासी संदेश देने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अब यहां से बिगुल फूकेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम की अपनी हालिया कड़ी में इस ओर इशारा भी दिया था, पीएम मोदी ने ‘मन की बात’ में 15वीं शताब्दी के मशहूर कवि और संतकबीरदास का जिक्र करते हुए कहा था कि कबीर ने ‘लोगों को धर्म और जाति के विभाजन से ऊपर उठने और ज्ञान को पहचान का एकमात्र आधार बनाने की अपील की थी’। प्रधानमंत्री गुरुवार को संतकबीरनगर के मगहर में तकरीबन ढाई घंटे गुजारेंगे। प्रधानमंत्री के आने के पहले मगहर को जबरदस्त तरीके से सजाया और संवारा जा रहा है। कुछ दिन पहले जिस जगह पर झाड़ियां और गंदगी का अंबार था वहां ये कबीर धाम एक पर्यटक स्थल की तरह दिखाई दे रहा है।