गाड़ी में नीली बत्ती लगाकर फर्जी एसपी का रौब दिखा रहे सिपाही को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बांदा – फर्जी एसपी बनकर रौब दिखा रहे तीन लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर लिया, लखनऊ के नंबर वाली लग्जरी गाड़ी में नीली बत्ती और एसपी का स्टीकर लगाकर उगाही कर रहे सिपाही समेत तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए शातिर रात में कबरई से गिट्टी व बालू भरे ओवरलोड ट्रकों को भी पुलिस की नजर से बचाकर निकालते थे।

गुरुवार आधी रात को मटौंध एसओ शशिकांत पांडेय वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान लखनऊ के नंबर वाली नीली बत्ती लगी गाड़ी आकर रुकी। इसमें सवार तीन लोग उतरे और रुतबे के साथ बोले कि पीछे आ रहे दो ट्रकों को बिना जांच के जाने दें। एसओ को शक हुआ तो उन्होंने नीली बत्ती वाली गाड़ी रोक ली। जांच की तो पता चला कि गाड़ी चला रहा प्रदीप सिंह सिपाही है जो अमेठी में तैनात है। यह भी पता चला कि वह कुछ दिन पहले ही लखनऊ के लिए रिलीव हुआ है पर वहां ज्वाइन नहीं किया।

पुलिस ने गाड़ी से 0.32 बोर की पिस्टल व दो मैगजीन भी बरामद कीं। गाड़ी सिपाही की पत्नी के नाम है। इसके बाद पीछे से आ रहे दोनों ट्रक भी पकड़ लिए। दोनों ट्रक दूसरों के नाम पर हैं। इससे अवैध खनन का कारोबार होता था, ट्रक सिपाही ही चलवा रहा था। बांदा के एएसपी एलवीके पाल ने बताया कि सिपाही के साथ पलहरिया, सोनभद्र के अजीत कुमार और पारा कानपुर के अवधेश सिंह को पकड़ा गया है। तीनों पर जालसाजी, लोकसेवक के पद का दुरुपयोग करने, उगाही व गैंग चलाने की एफआईआर दर्ज करने के बाद जेल भेज दिया गया है।