राखी बांधने का सबसे शुभ मुहूर्त ये है, बहने इन्हीं शुभ मुहूर्तों में अपने भाई को राखी बांधें

रविवार 26 अगस्त को रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाएगा, हिन्दू पंचांग के अनुसार हर साल श्रावण मास की पूर्ण‍िमा को रक्षाबंधन का त्‍योहार मनाया जाता है, इस बार की राखी बेहद शुभ है और इस बार खास संयोग भी बन रहा है। इस साल रक्षाबंधन के दिन भद्रा नहीं है और राजयोग बन रहा है। दरअसल, भद्रा में राखी नहीं बांधी जाती और राजयोग में राखी बांधना बहुत शुभ होता है, इसलिए इस बार का रक्षाबंधन बेहद शुभ है।

 

 

श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाए जाने वाले भाई-बहन के पर्व रक्षाबंधन के मौके पर बहनें अपने भाइयों को अमृत मुहूर्त में रक्षासूत्र बांधें तो ज्यादा उपयुक्त होगा। अमृत मुहूर्त के समय राखी बांधना बहुत ही फलदायी माना जाता है, इसलिए कोशिश करें कि इसी समय अपने भाई को राखी बांधें और भाई भी अपनी बहनों से इसी समय राखी बंधवाएं।

राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

रविवार राखी बांधने का शुभ मुहूर्त सुबह 7:43 बजे से 9:18 बजे तक चर

सुबह 9:18 बजे से लेकर 10:53 बजे तक लाभ

सुबह 10:53 बजे से लेकर 12:28 बजे तक अमृत मुहूर्त का समय होगा।

दोपहर 2:03 बजे से लेकर 3:38 बजे तक शुभ

शाम 6:48 बजे से लेकर 8:13 बजे तक शुभ

रात 8:13 बजे से लेकर 9:38 बजे तक अमृत

रात 9:38 बजे से लेकर 11:03 बजे तक चर मुहूर्त रहेगा।

रविवार को इन्हीं मुहूर्तों में राखी बंधवाना शुभ माना गया है जिसमें सबसे ज्यादा शुभ अमृत मुहूर्त में होगा।

इस मुहूर्त में न बांधे भाई को राखी

रक्षाबंधन के दिन कभी भी राहुकाल में राखी नहीं बांधी जाती. हिन्दू पंचांग के अनुसार 26 अगस्त को शाम 4:30 बजे से 6 बजे तक राहुकाल है, राहुकाल में अपने भाई को भूलकर भी राखी ना बांधें. क्योंकि इसका भाई और बहन दोनों पर नकारात्मक असर होता है, राहुकाल में राखी बांधने से जहां भाई-बहन के रिश्ते पर प्रभाव पड़ता है, वहीं भाई की उम्र भी इससे प्रभावित होती है।