सोनिया गांधी की ‘डिनर डिप्लोमेसी

 

बीजेपी रूपी आंधी रोकने के लिए विपक्षी एकता को मजबूत करने में जुटी सोनिया

लखनऊ,कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने सभी विपक्षी दलों के नेताओं को 13 मार्च को डिनर पर आमंत्रित किया है जिसे बीजेपी के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने के ताजा प्रयास के रूप में देखा जा रहा है। पार्टी के एक जानकार सूत्र ने बताया कि संसद में सरकार पर हमला बोलने के लिए विपक्षी दलों द्वारा हाथ मिलाए जाने की पृष्ठभूमि में यह पहल विपक्ष को मजबूत करने और 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए संयुक्त मोर्चे की नींव रखने की दिशा में एक कदम है.

सोनिया गांधी ने यह पहल ऐसे समय में की है जबकि गैर बीजेपी, गैर कांग्रेस मोर्चा की संभावनाओं को लेकर चर्चा हो रही है. इससे पहले टीआरएस प्रमुख एवं तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चन्द्रशेखर राव ने इस मामले में राष्ट्रीय स्तर पर विचार विमर्श करने का प्रस्ताव दिया था.

पूर्व कांग्रेस अध्यक्षा ने विपक्षी दलों से आपसी मतभेद बुलाकर साथ आने और विपक्षी एकता को मजबूत करने का अनुरोध किया है।

कांग्रेस पार्टी के सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की कि सोनिया गांधी का रात्रिभोज उन सभी विपक्षी दलों के साथ आने को रेखांकित करेगा जो संसद के भीतर और बाहर बीजेपी का मुकाबला करेंगे. उन्होंने कहा, ‘‘ यह महज रात्रिभोज नहीं होगा बल्कि यह विपक्षी दलों का शक्ति प्रदर्शन भी होगा जो बीजेपी के कुशासन के खिलाफ एकजुट होकर एक मोर्चा गठित करना पसंद कर सकते हैं.’’