किसान, बेरोजगार नौजवान और व्यापारियों को लेकर संसद में मोदी सरकार को घेरा

नई दिल्ली – संसद में चल रहे मॉनसून सत्र में अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा के दौरान मुलायम सिंह यादव ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा, उन्‍होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने किसानों और नौजवानों और व्यापारियों की अनदेखी की है।

सरकार को घेरते हुए मुलायम सिंह ने कहा कि मोदी सरकार के कामकाज से उनकी ही पार्टी के कुछ नेता खुश नहीं हैं इनके काम काज से एक तरफ जहां किसान, नौजवान और व्यापारी परेशान तो हैं हीं साथ ही उनके नेता भी रो रहे हैं। मुलायम सिंह ने कहा, ‘अगर सरकार किसानों और नौजवानों के लिए कुछ काम कर दे तो भी बात बन जाए,’ उन्‍होंने आगे कहा कि देश में 2 करोड़ पढ़े-लिखे नौजवान बेरोजगार हैं और उनके लिए कुछ करना चाहिए। हमारी जब यूपी में सरकार थी तो हमने नौजवानों को रोजगार दिए थे, ये सरकार बताए कि नौजवानों के लिए क्या किया?

मुलायम सिंह ने कहा कि इस बहस में किसान का नाम लेने वाला कोई नहीं है, हमें शिक्षा और स्वास्थ्य को प्राथमिकता देनी पड़ेगी, अमेरिका से इस क्षेत्र में सीखने की जरूरत है. हमारे यहां का किसान मेहनती है, जमीन उपजाऊ है लेकिन इसके बाद भी किसान परेशान है, उन्होंने आगे कहा कि जातीय भेदभाव को खत्म करना पड़ेगा और पिछड़े को बारे में खास तौर से सोचने की जरूरत है।

मुलायम ने कहा कि हमने उपचुनाव में तीनों सीट जीती हैं, इससे आपको सीखने की जरुरत है कि क्यों बीजेपी को सत्ता में रहते हुए भी लगातार हार का सामना करना पड़ रहा, उन्होंने कहा कि धर्म, जाति के नाम पर माहौल खराब हो रहा है, सरकार कुछ बेहतर करना चाहती है तो हम राय भी देने को तैयार हैं।

मुलायम ने तंज कसते हुए कहा कि यूपी में बीजेपी के लोग ही रो रहे हैं और अकेले में मैं आपको नाम भी गिना सकता हूं, उन्होंने कहा कि हम तो चलो विपक्ष में हैं लेकिन योगी सरकार अपनी पार्टी के लोगों की ही नहीं सुन रही हैं।