डॉ. हाथी ये सही बात नहीं है…. तारक मेहता का उल्टा चश्मा के अहम किरदार डॉ. हाथी का निधन

रिपोर्ट – साहबदीन यादव, लखनऊ

 

सब टीवी का सबसे ज्यादा देखे जाने वाला शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में डॉ.हंसराज हाथी का किरदार निभाने वाले कवि कुमार आज़ाद का सोमवार को निधन हो गया है। कवि कुमार का निधन महाराष्ट्र के मीरा रोड के वॉकहार्ट हॉस्पिटल में हार्टअटैक से हुआ।

तारक मेहता के शो के निर्माता असित कुमार मोदी ने कवि कुमार के निधन की जानकारी देते हुए कहा कि  ‘हमें अपने वरिष्ठ अभिनेता कवि कुमार आजाद के निधन की सूचना देते हुए बहुत दुख हो रहा है। वह तारक मेहता में डॉक्टर हाथी का किरदार निभा रहे थे। उनका निधन आज सुबह दिल का दौरा पड़ने की वजह से हुआ।’

असित मोदी ने बताया कि कवि कुमार एक बेहतर अभिनेता और एक बहुत ही सकारात्मक व्यक्ति थे, वह वास्तव में शो से बहुत प्यार करते थे तबियत नहीं ठीक होने के बाद भी वो हमेशा शूटिंग के लिए आ जाते थे लेकिन उन्होंने आज सुबह फोन कर कहा था कि वह ठीक नहीं है और शूट के लिए आने में असमर्थ हैं। इसके बाद हमें यह खबर मिली कि वह गुजर गए। इस ख़बर के बाद से हम सब कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं हैं।

वैसे तो अपने शो में वो अपने वजन और खाने से ही लोगों का मनोरंजन करते थे लेकिन ज्यादा वजन ही उनके लिए हानिकारक बना बता दें कवि कुमार लंबे समय से अपने वजन को लेकर काफी परेशान थे। उनका वजन लगभग 215 किलो था और वो इसके लिए वह कई तरह का इलाज करा रहे थे।

 

कवि कुमार आजाद कविताएं लिखने के काफी शौकीन थे, उन्हें जब भी समय मिलता था वो कविताएं लिखा करते थे। बच्चे उन्हें बहुत पसंद करते थे अभी कुछ दिन पहले ही उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर ट्वीट करते हुए लिखा था, ‘किसी ने कहा है कल हो न हो, मैं कहता हूं पल हो न हो। हर लम्हा जियो।’ उनकी ये पंक्तियां यादगर बन गईं।

उनके निधन के बाद दर्शक उन्हें बहुत याद करेंगे वो अपने शो और अपने कैरेक्टर के लिए एकदम फिट और परिपक्व थे उनकी जगह कोई नहीं ले सकता यही कारण है कि डॉ. हाथी को लोग कभी नहीं भुला पाएंगे।

कवि कुमार जी के आखरी ट्वीट की कुछ पंक्तियां जो हमेशा के लिए यादगार बन गईं….