हवन और ब्रह्मभोज के साथ संपन्न हुई तोते की तेरहवीं

हवन और ब्रह्मभोज के साथ संपन्न हुई तोते की तेरहवीं
ना कभी सुना होगा ना कभी देखा होगा पक्षी प्रेम का एक अलग ही मामला हसनपुर में पहली बार नज़र आया बताते चलें कि हसनपुर नगर में रहने वाले शिक्षक पंकज कुमार मित्तल के परिवार द्वारा अपने एक पालतू तोते का 5 मार्च को निधन होने के बाद पूरी रसम के साथ गंगा घाट पर जाकर तोते का अंतिम संस्कार किया गया और 11 मार्च दिन रविवार को सर्वप्रथम हवन वह ब्रह्मभोज का भी आयोजन किया गया बताते चलें कि शिक्षक पंकज कुमार मित्तल व उनके परिवार के सदस्य अपने प्रिय तोता मिट्ठू से अथाह प्रेम करते थे और उन्होंने मिट्ठू की मृत्यु के बाद बाकायदा सारी रस्मों रिवाज के साथ तोते की तेरवी का आयोजन भी किया जिसमें मित्तल परिवार द्वारा बाकायदा अपने रिश्तेदारों को मोहल्ले वासियों को कार्ड भेज कर बुलावा भेजा गया तोते की तेरवी के भोज में ब्राह्मणों के भोजनोपरांत नगर के सैकड़ों लोगों ने तोते की तेरहवीं का भोजन ग्रहण किया इस दुख की घड़ी में पीपल फॉर एनिमल्स के प्रदेश प्रभारी आर शुक्ला ,डिप्टी रेंजर वन विभाग आदि ने पहुंचकर तोते के चित्र पर पुष्प अर्पित किए और मित्तल परिवार को ढांढस बंधाया साथ ही मित्तल परिवार को पीपल फॉर एनिमल के प्रदेश प्रभारी आर शुक्ला ने मित्तल परिवार के सभी सदस्यों को आजीवन पीपल फॉर एनिमल का सदस्य भी घोषित किया इस तेरवी के कार्यक्रम में हवन पूजन आदि का कार्य पंडित विपिन शास्त्री द्वारा विधि विधान के साथ संपन्न कराया गया तेहरवीं के कार्यक्रम में मुख्य रूप से सुरभित गुप्ता एडवोकेट आदेश मित्तल संदीप गुप्ता नुसरत अली एडवोकेट अंकुर अग्रवाल राकेश शर्मा राजीव त्यागी वह मित्तल परिवार के बाहर से आए रिश्तेदारों व अन्य गणमान्य लोगों ने भी पहुंच कर मित्तल परिवार को तोते के निधन पर ढाढस बंधाते हुए तोते के पुष्प पर श्रद्धांजलि अर्पित की