सोशल मीडिया पर फैल रही अफवाहों से हो रही हिंसा से सरकार चिंतित, Whatsapp ने सरकार बताया अफवाह रोकने का प्लान

दिल्ली – वॉट्सऐप और सोशल मीडिया से वायरल हो रही फेक ख़बरों से फैल रही हिंसा रोकने की मुहिम में मंगलवार को केंद्र सरकार ने इन सोशल मीडिया माध्यमों को झूठी खबरों पर लगाम लगाने को कहा था, अब वॉट्सऐप ने इस पर सरकार के मदद के जरूरत की गुहार लगाई है। गौरतलब है कि महाराष्ट्र समेत देश के कई हिस्सों में पिछले कुछ माह में अफवाहों के चलते 20 से ज्यादा लोगों की हत्या के मामले के बाद केंद्र ने यह चेतावनी जारी की।

वॉट्सऐप ने सरकार के इस सलाह पर कहा है कि इस काम में प्लेटफॉर्म को सरकार और समाज दोनों की ही भागीदारी की जरूरत होगी, वॉट्सऐप ने मंत्रालय के 3 जुलाई के लेटर पर जवाब देते हुए कहा कि ‘हम भी सोशल मीडिया के चलते हुए ऐसी दुखदायी घटनाओं को लेकर दुखी हैं और इसपर जल्द से जल्द कदम उठाना चाहते हैं.’ प्लेटफॉर्म ने कहा कि हम विश्वास करते हैं कि झूठी खबरों और जानकारियों से लड़ने के लिए सरकार, सिविल सोसाइटी और टेक्नोलॉजी कंपनियों के सामूहिक भागीदारी की जरूरत हैं।

वॉट्सऐप ने जानकारी दी कि वो अपने यूजर्स को कंट्रोल और इंफॉर्मेशन दे रहा है ताकि वो सुरक्षित रहें, साथ ही वो पब्लिक सेफ्टी को लेकर एडवर्टाइजिंग कैंपेन चलाने की योजना भी बना रहे हैं।