अखिलेश यादव का बंगला लेना चाहते हैं मंत्री सिद्दार्थनाथ सिंह

लखनऊ – पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का बंगला एक बार फिर चर्चा में आ गया है। कोर्ट के आदेश के बाद पूर्व मुख्यमंत्रियों ने अपना बंगला खाली कर दिया जिसके बाद अब उन बंगलों के आवंटन को लेकर घमासान तेज हो गया। दरअसल सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव को लिखी चिट्ठी में अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव द्वारा खाली किए बंगलों में से किसी एक को उन्हें आवंटित करने का आग्रह किया है।

मंत्री सिद्धार्थनाथ का कहना है कि इस समय वह जिस सरकारी बंगले 19 गौतमपल्ली में रहते हैं, वह काफी छोटा है और वहां कैंप कार्यालय में स्टाफ व आगंतुकों के बैठने के लिए पर्याप्त स्थान नहीं है। इससे आम जनता को असुविधा भी होती है। इसी के साथ-साथ उन्होंने अपने पत्र में बंगला संख्या-4 या 5, विक्रमादित्य मार्ग का उल्लेख करते हुए दोनों में से किसी एक को आवंटित करने की मांग की है। 4, विक्रमादित्य मार्ग अखिलेश यादव व बंगला संख्या 5, मुलायम सिंह यादव को आवंटित था। स्वास्थ्य मंत्री अपने बंगले 19, गौतमपल्ली में वर्षा में छत से पानी टपकने की शिकायतें करते रहे हैं।

गौरतलब है कि जिस बंगले में मंत्री सिद्दार्थनाथ सिंह रहे थे ये बंगला सपा सरकार में मंत्री रहे अभिषेक मिश्र को आवंटित था। हालांकि स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह द्वारा लिखे गए पत्र को लेकर अभी कोई फैसला नहीं लिया है। वहीं लसपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सरकारी बंगले को खाली करने के बाद उसे हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को आवंटित करने की सलाह दी थी। उन्होंने चुटकी भी ली थी कि बंगले पर कई मंत्रियों की निगाह है।

न सिर्फ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर सरकार के मंत्रियों की नजर है बल्कि इसके अलावा राजनाथ सिंह और कल्याण सिंह का आवास पाने की होड़ में कई मंत्री और अधिकारी आस लगाए बैठे हैं। कई मंत्री बीजेपी के पूर्व मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह के बंगले पर नजर लगाए हैं।